वेब होस्टिंग क्या है और कहाँ से खरीदे – What is Web Hosting in Hindi

आप सभी का एक बार फिर से हमारे blog पर स्वागत है। आज के इस ब्लॉग लेखन में हम वे होस्टिंग के बारे में बताने वाले है। हम जानेंगे की Web Hosting Kya Hai, यह कैसे काम करता है, इसके कितने प्रकार है आदि।

यादि आपको भी web hosting के बारे में जानना है, तो आप इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ सकते हैं क्योंकि इसमें मैने आपको वेब होस्टिंग के बारे में शुरू से ले के आखिर तक सम्पूर्ण जानकारी दी है।

एक समय ऐसा था की केवल कुछ ही लोगों के पास वेबसाइट होती थी। लेकिन आज का युग डिजिटल युग है और आज इंडिया के 100 में से 1 व्यक्ति के पास खुद का वेबसाइट मौजूद है। जानकारी के लिए बता दूं कि वेबसाइट को ही साइट और ब्लॉग कहा जाता है।

आज वेबसाइट बनाना बहुत ही आसान हो गया है। लेकिन इसके लिए हमे अच्छी खासी नॉलेज की भी जरूरत पड़ती है। ब्लॉग बनाने के लिए web hosting, domain name, SEO, search console, adsense आदि के बारे में जानना काफी जरूरी होता है।

Hosting एक ऐसी चीज है जिसके बिना आप अपना एक professional blog कभी नहीं बना सकते। यादि आपको सच में एक ब्लॉग वेबसाइट बनाना है और उससे अच्छे खासे पैसे कमाना है, तो आपको होस्टिंग की काफी जरूरत पड़ने वाली है।

तो चलिए दोस्तों अब बिना देरी किए यह जानते है की ये वेब होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग के कितने प्रकार है, वेब होस्टिंग कैसे काम करता है, वेब होस्टिंग कहां से खरीदे, वे होस्टिंग के फायदे आदि के बारे में।

वेब होस्टिंग क्या है – What is Web Hosting in Hindi?

Basically दोस्तों, वेब होस्टिंग एक ऐसी सेवा है जो आपके वेबसाइट को internet में जगह देती है। इसकी सहायता से कोई भी व्यक्ति, कहीं से भी आपके वेबसाइट को access कर सकता है। Web hosting को हम “Web Server” भी कहते है।

वेब होस्टिंग क्या है और कहाँ से खरीदे

दोस्तों यदि अभी भी आपको वेब होस्टिंग क्या है समझ नहीं आया तो कोई बात नहीं हम इसे सरल शब्दों में आपको समझाने की कोशिश करते ही। आप real life में अपने रहने के लिए i mean घर बनाने के लिए जगह खरीदते है, जिसे जमीन कहते है।

ठीक इसी प्रकार internet की दुनिया में अपने वेबसाइट को होस्ट करने के लिए मतलब की रखने की लिए हमे जगह लेना पड़ता है जिसे Web Hosting के नाम से जाना जाता है।

आप अपने वेबसाइट पर किसी विषय के बारे में जानकारी पब्लिश करते हो। लेकिन आपको यह नहीं मालूम होता की users उस विषय के बारे में कब search करते है। जब वे आपके वेबसाइट पर आते है तब आपको मालूम पड़ता है की मेरे वेबसाइट पर इस समय कोई active है।

यह समय रात 12 बजे भी हो सकता है वो दिन के 12 बजे भी हो सकता है। ऐसे में 24 घंटे अपने साइट को एक्टिव रखना लगभग असम्भव है। लेकिन वेब होस्टिंग की सहायता से ऐसा संभव है, वेब होस्टिंग आपके साइट को 24×7 इंटरनेट से connected रखता है। इससे कभी भी कोई भी व्यक्ति आपके साइट में आ सकते है।

यह पोस्ट आपको पसंद आ सकती है

Web Hosting कैसे काम करता है?

आपका वेबसाइट विभिन्न फाइलों का collection मात्र ही रहता है। इन फाइलों ने article, videos, images, HTML आदि जैसे चीजें शामिल होती है। वेब होस्टिंग इन्हे store करके रखने का कार्य करता है।

आपके इन फाइलों को interner के माध्यम से कोई भी व्यक्ति देख सकता है। जब भी कोई user इंटरनेट के माध्यम से आपके वेबसाइट पर आएगा तो उससे आपका web server connect हो जायेगा और उस user को जो जानकारी चाहिए वो उस मिल जाएगी।

इसी प्रकार से एक वेब होस्टिंग काम करता है। जब आप अपनी साइट को hosting के साथ connect करते हो, तो इसके लिए आपको DNS (Domain Name Syatem) की जरूरत पड़ती है और यह DNS आपको आपने जिस भी कंपनी से होस्टिंग खरीदा है वहां से आपको मिल जाता है।

DNS से यह पता चलता है, की आपकी वेबसाइट को कौनसे web server पर host किया गया है यानी की रखा गया है, क्योकिं सभी होस्टिंग का DNS अलग अलग होता है।

Web Hosting कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों आपने Web Hosting Kya Hai और Web Hosting कैसे काम करता है यह तो जान ही किया है। लेकिन अब हम आपू बताएंगे types of web hosting in hindi मतलग की वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते है।

Web hosting के मुख्य रूप से 4 प्रकार होते है जैसे की-

➡️ 1. Shared Hosting

Shares Hosting सबसे प्रचलित और सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाना वाला hosting है। लगभग सभी लोग अपने शुरुआती टाइम में इसी hosting को खरीदते है। इसमें आप एक साथ एक से अधिक sites चला सकते है।

इस होस्टिंग का सबसे बड़ा फायदा यह है की यह काफी ज्यादा सस्ती आती है और आपको एक से अधिक वेबसाइट एक ही server पर host करने का मौका देती है, जिससे आपके काफी पैसे बचते है। यादि आप भी कोई साइट बना रहे है तो मैं आपको ये shared hosting ही recommend करूंगा।

लेकिन दोस्तों इस होस्टिंग का एक नुकसान भी है, जब shared hosting पर बन साइट पर users की संख्या अधिक होती है, तो load speed भी बढ़ जाता है। जिससे हमारा site काफी ज्यादा slow हो जाता है और इससे user experience खराब होता है।

यह होस्टिंग high traffic को बिल्कुल भी हैंडल नहीं कर सकता। इसलिए यदि आप नए है, तो इस होस्टिंग को खरीदे, बाद में जब आपके साइट पर लोगों की संख्या बढ़ने लगे तो आप होस्टिंग को चेंज कर सकते हैं।

➡️ 2. VPS (Virtual Private Server) Hosting

VPS web hosting एक hotel के room की तरह होता है। जहाँ उस room पर मौजूद सभी चीजों पर सिर्फ और सिर्फ आपका ही हक रहता है। इसमें और किसी अन्य व्यक्ति का भी शेयरिंग नहीं होता।

VPS hosting में visualization technology का use किया जाता है। जिसमे एक बहुत ही strong और secure server को virtually अलग अलग हिस्सों में divide यानी बाटा हुआ होता है।

प्रत्येक virtual server के लिए अलग अलग resource का इस्तेमाल किया जाता है। जिससे आपके website को जीतने resources की आव्यशकता होता है, वो उतना use कर पता है। यहाँ आपको दूसरे किसी website के साथ share नहीं करना पड़ता है।

और आपके website को काफी अच्छी security और performance मिल जाता है। अगर आप इस hosting को खरीदने की सोच रहे है तो बता दूं की यह hosting थोड़ा costly है। इसका इस्तेमाल वो साइट्स करते है जिनमे अधिक visitors आते है।

➡️ 3. Cloud Hosting

Dedicated server और VPS के साथ समस्या यह है की यहां आपके पास resources बहुत ही कम होते हैं साथ ही यहाँ पर storage और capacity की भी एक limit होती है।

लेकिन दोस्तों अक्सर ज्यादातर websites इस limitation तक पहुँच ही नही पाते हैं, लेकिन कभी-कभी साइट के कुछ contents viral हो जाते हैं और इससे अचानक से उस साइट की ट्रैफिक काफी ज्यादा बढ़ जाती है जिसे handle करना होस्टिंग के लिए मुश्किल होता है।

इन समस्याओं का solution आपको cloud hosting में आसानी से मिल सकता है। यहाँ पर कोई एक server नही बल्कि एक साथ कई सारे सर्वर मिलकर आपकी वेबसाइट को host करते हैं।

बीते कुछ वर्षों में क्लाउड होस्टिंग कुछ ज्यादा ही popular हुआ है और इसका चलन लगातार बढ़ता ही जा रहा है क्योंकि bloggers की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। यहां पर server down होने के चांसेस एकदम न के बराबर होता है।

क्योंकि आपके साइट के सभी चीजें cloud में मौजूद होती है। जानकारी के लिए बता दूं की अन्य hostings की तुलना में यह hosting काफी अधिक महंगा होता है। इसका इस्तेमाल बड़े sites द्वारा किया जाता है।

➡️ 4. Dedicated Hosting

Dedicated server में उपयोगकर्ता को dedicated resources के साथ एक server का पूरा access प्रदान किया जाता है, इसमें भी बहुत ही अधिक traffic को handle करने की क्षमता होती है।

Dedicated hosting में उसके उपयोगकर्ता का पूरा नियंत्रण होता है। हालाँकि उपयोगकर्ता इसके server का मालिक नहीं होता लेकिन इसके users के पास server का पूरा प्रशासनिक अधिकार मौजूद रहता है।

इसका सीधा मतलब है की यदि आप इस होस्टिंग को ले लेते है तो आप अपने स्वयं के सर्वर की security और privacy के लिए खुद ही जिम्मेदार होते है। इसका भी होस्टिंग प्लान थोड़ा coustoly होता है।

इस वेब होस्टिंग को सबसे secure web hosting भी माना जाता है। साथ ही इसका प्लान अन्य हिस्टिंग्स से काफी अलग होता है, इसमें किसी दूसरे की कोई हिस्सेदारी नहीं होती, आप खुद इसे हैंडल करते है।

Web Hosting के कुछ और प्रकार-

दोस्तों मैने आपको उपर में web होस्टिंग के 4 प्रकार बताए है। लेकिन उनके सिवाय होस्टिंग के और भी प्रकार होते है, जिनका इस्तेमाल बहुत ही कम किया जाता है, ये hostings निम्नलिखित है-

➡️ 1. WordPress Hosting

WordPress एक तरह का CMS (Content Management System Software) है और यह वेबसाइट बनाने का मौका तो देता है लेकिन साथ में hosting भी provide करता है।

इसमें shared wordpress hosting और managed wordpress hosting शामिल है। ये होस्टिंग्स भी अन्य हिस्टिंग्स की तरह ही काम करती है। इसमें आपके साइट के सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाता है।

यहां आपको कुछ ऐसे plans भी मिल जायेंगे जिन्हे आप one click installation के साथ खरीद सकते हैं। इस तरह के hostings आमतौर पर wordpress users के लिए ही होते है। हंलाकी आप ऊपर बताए गए सभी hoatings में वर्डप्रेस इंस्टाल कर सकते हैं।

➡️ 2. Reseller Hosting

Hosting बेचने की प्रक्रिया को reseller hosting कहा जाता है, ये सभी के लिए नहीं है। अगर आपको coding की अच्छी नॉलेज है और आप अपना वेबसाइट खुद से ही बना लेते है तो आपको कोई भी hosting खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इसे white label web hosting के नाम से भी जाना जाता है। इसे आप होस्टिंग provider कंपनियों से बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं। दोस्तों इसमें आपको limited access ही मिल सकेगी साथ ही इसका इस्तेमाल करने वाले users होस्टिंग प्रोवाइडर पर पूरी तरह से डिपेंड हो जाते है।

आम तौर पर इस होस्टिंग का उपयोग डिजिटल मार्केटर्स, वेब डेवलपर्स आदि लोग करते है। क्योंकि ये कंपनियों को अपने होस्टिंग पर साइट बना कर देते हैं।

➡️ 3. Domain Racer Hosting

DomainRacer दुनिया की सबसे बढ़िया reselling hosting provide करने वाली कंपनियां है। यहां पर आपको बहुत ही कम कीमत पर होस्टिंग मिल जायेगी। यह लोगों को reselling business शुरू करने के लिए मदद करता है।

यहां Dedicated Server hosting, LMS hosting and Application hosting, Shared hosting, Reseller hosting, E-commerce, web developer, VPS hosting, WordPress, PHP, MySQL, Node.js, Magento जैसी hosting सस्ती कीमत के साथ प्राप्त कर सकते है।

➡️ 4. Linux & Windows Hosting

Hosting खरीदते समय आपको 2 options provide किए जाते है। एक है linux का और दूसरा है windows का। लेकिन कभी आपने यह सोचा है की इन दोनों में क्या फर्क है? दोस्तों आप इन दोनों में से कोई सा भी hosting use कर सकते है।

पर Windows hosting आपको थोडा सा महंगा पड़ता है। Linux एक open source operating system है, जिसके चलते यह एकदम सस्ता में ही आपको मिल जायेगा। लेकिन windows के license हेतु company को पैसे देने पड़ेंगे। इसीलिए यह भी थोड़ा सा महंगा है।

वैसे तो ये दोनो ही server बहुत बढ़िया है पर Linux को Windows से कहीं अधिक secure माना जाता है। आप ज्यादातर blog और websites को Linux के server पर ही पाएंगे। क्यूँकी ये ज्यादा सस्ता होता है और Windows से ज्यादा features भी इसमें मिलता है।

Web Hosting कहां से खरीदे?

दोस्तों आपने Web Hosting Kya Hai, Web Hosting कैसे काम करता है आदि बातों के बारे में तो जान लिया परंतु अब बारी आती है की इसे कहां से खरीदे। अगर आपने भी blogging करने का पूरा मन बना लिया है, तो आप नीचे दिए गए sites में जाकर होस्टिंग खरीद सकते हैं।

Web Hosting के Features

प्रत्येक web hosting एक जैसे नहीं बनाया गया है। आपके द्वारा चुने गए host का आपकी साइट के प्रदर्शन, उस hosting के server पर निर्भर करता है। दोस्तों आपको होस्टिंग खरीदते टाइम नीचे दिए गए फीचर्स पर जरूर ध्यान देना चाहिए।

➡️ 1. Brandwith: यह आपके site और visitor के बीच होने वाले data के transfer को दर्शाता है। आपके hosting का जितना अधिक brandwith रहेगा, उतने ही बिना किसी रुकावट के अधिक से अधिक users एक ही समय में आपके site को access कर सकते हैं।

➡️ 2. Storage: हर hosting account में आपको अपने ग्राफ़िक्स, वेब पेज, अन्य मीडिया फाइल्स इत्यादि को स्टोर करने हेतु पर्याप्त disk space होना बहुत ही जरूरी हैं। आपको अपनी जरूरतों को ध्यान ने रखते हुए अपने लिए एक अच्छा सा hosting plan चुनना चाहिए।

➡️ 3. Uptime: एक विश्वशनीय वेब होस्टिंग प्रोवाइडर की यह सबसे खास विशेषताओं में से एक होती है। कई कंपनियां आपको direct uptime ही provide करती है। इससे आपका साइट 99.9% समय visitors के लिए ही रहेगा।

➡️ 4. Emails: आप web hosting के साथ-साथ email hosting की सुविधा भी प्राप्त कर सकते हैं जिसमे आप अपने लिए या अपनी organization के लिए custom email address आसानी से बना सकते हैं। Email hosting में आपको email रिसीव करने, मेल भेजने आदि से लेकर कई अन्य features जैसे virus & spam filters, address book, calander आदि भी मिलते हैं।

➡️ 5. Backups: कभी कभी ऐसा होता है की आपके वेबसाइट से संबंधित कुछ जरूरी data आपकी किसी गलती के वजह से डिलीट हो जाते है, ऐसे में आपके वेबसाइट का काफी नुकसान हो सकता है। इसलिए दोस्तों यह अवश्य ध्यान रखे के आप जो भी hosting plan ले रहे हो वहां backups की सुविधा मिले।

➡️ 6. Costomer Support: आज के दौर में यह बहुत ही important है। आप जिस भी कम्पनी से होस्टिंग लोगे, आपको उसके बारे में सभी चीजें मालूम होना चाहिए। साथ ही वह कंपनी costomer support का भी पूरा ध्यान रखे, ताकि आपको कभी भी कोई समस्या हो, तो आप उनसे संपर्क कर पूछ सके।

Web Hosting और Domain Name में क्या अंतर है?

Basically दोस्तों, domain name किसी भी साइट का url address हॉट है। जैसे की youtube.com, google.com आदि। आप हमारी इस साइट में है और पोस्ट को पढ़ रहे है हमारे साइट का भी domain name manojkideas.com है।

और रही बात वेब होस्टिंग की, तो इसके बारे में मैने काफी कुछ बता दिया है। वेब होस्टिंग आपको इंटरनेट में मिलने वाली एक space (जगह) होती है। आप जब होस्टिंग खरीद रहे होते है तो कई बार आपको domain name मुफ्त में ही मिल जाता है।

Domain name और web hosting इन दोनों के बिना वेबसाइट कोई नहीं बना सकता। डोमेन नाम आपके साइट का नाम होता है, तो वहीं होस्टिंग आपके साइट को इंटरनेट में रखने का मौका देता है।

GoDaddy Se Domain Kaise Kharide?

Manoj K Ideas Blog में कौन सी Hosting Use होती है?

दोस्तों मैने आपको वेब होस्टिंग क्या है यह तो बता दिया लेकिन हम अपने वेबसाइट पर कौनसी होस्टिंग का use करते है वो नहीं बताया। दोस्तों हम अपने साइट पर hostinger का shared hosting plan का इस्तेमाल करते है।

हम पिछले काफी लंबे समय से इसका इस्तेमाल कर रहे है, जबसे मैने अपना ब्लॉग बनाया है जनवरी 2021 से और इसमें मुझे अभी तक कोई भी समस्या नहीं आई है।

जब मैने ब्लॉग शुरू किया Single Web Hosting एक साल Use किया है अभी मैं Premium Web Hosting अपग्रेट कर लिया है आज मेने ब्लॉग पर 30 हजार + का ट्रॉफिक है फिर भी मुझे अभी तक इस होस्टिंग से कोई समस्या नही है।

तो अगर आपको होस्टिंग खरीदना है तो आप होस्टिंगर से होस्टिंग खरीद सकते है दोस्तों होस्टिंगर से भी बेहतर होस्टिंग इंटरनेट पर मौजूद है लेकिन उनका चीर्ज भी हाई है अगर आपको होस्टिंग खरीदने का तरीका जानना है आप यह कुछ पोस्ट पढ सकते है।

Conclusion (Web Hosting Kya Hai)

तो दोस्तों, इस पोस्ट में मैने आपको Web Hosting Kya Hai, Web Hosting कैसे काम करता है, Web Hosting कहां से खरीदे आदि सभी जरूरी बातें बताई है। उम्मीद करता हूं की, आपको यह आर्टिकल काफी पसंद आया होगा।

मैंने दोस्तों, आपको web hosting के बारे में काफी कुछ बता दिया है। अब आप चाहे तो एक अच्छा सा होस्टिंग खरीद सकते हैं। मैं आपको hostinger recommended करूंगा। क्योंकि यह सबसे सस्ता है और इसका costomer support भी काफी बढ़िया है।

आखिर में दोस्तों जाते जाते आपसे बस यही कहना चाहूंगा की इस लेख को अपने सभी दोस्तों के साथ share करना बिल्कुल भी न भूले। साथ ही अगर आपके मन में कोई doubt या question है तो आप कॉमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं।

FAQs –

Q. हमे अपने साइट के लिए किस प्रकार की वेब होस्टिंग लेनी चाहिए?

Ans – ये निर्भर करता है की आपकी वेबसाइट कितनी बड़ी है, उसमें कितना ज्यादा ट्रैफ़िक आता है आदि बातों पार। यदि आप एकदम नयी साइट शुरू कर रहे हैं, तो आपको shared hosting ही लेनी चाहिए जो की नए साइट्स के लिए सबसे बढ़िया होस्टिंग मानी जाती है।

Q. Server Uptime Means in Hindi?

Ans – Server uptime उस समय को बताता है जब आपका web server fully functional और online होता है।

Q. बिना होस्टिंग खरीद साइट बना सकते हैं क्या?

Ans – हां, बना सकते है। Free blogger की मदद से। यहां आपको होस्टिंग नहीं लेनी पड़ेगी, लेकिन मैं आपको सलाह दूंगा की आप एक डोमेन नेम जरूर खरीदे। उसके बाद ही इसमें ब्लॉग बनाए।

Hello दोस्तों, मेरा नाम मनोज कुमार है और आपका हमारे ब्लॉग manojkideas.com पर स्वागत है मुझे Blogging में दो सालो का अनुभव, इंटरनेट की अच्छी जानकारी है इस ब्लॉग पर हमने Make Money, Blogging और Technology की सबसे ज्यादा जानकारी शेयर करते है जोकि यह मेरे प्रयोग किये गये तरीके होते है जो मैं सीखता हूँ वही 100% रियल सिखाता हूँ।

Leave a Comment