डोमेन नेम क्या है कौन सा लें – What is Domain Name in Hindi

Hi friends, आप सभी का एक हमारे इस ब्लॉग में स्वागत है। आज हम बात करने वाले है domain के बारे में। हम जानेंगे की Domain Name Kya Hai और यह कैसे काम करता है साथ ही इसके कुछ प्रकारों के बारे में भी हम बात करेंगे।

दोस्तों यदि आप भी Blogging करने की सोच रहे है, तो आपको domain name के बारे में जरूर जानना चाहिए। क्योंकि blogging में डोमेन का काफी बड़ा रोल रहता है। इसके बिना website आप कभी भी नहीं बना सकते।

Basically दोस्तों हमारे Blog Website के नाम को ही domain name कहते है। इसके बारे में हम आगे विस्तार से बात करेंगे। इसके जरिए हम किसी भी web page का access ले सकते हैं।

हो सकता है आपको domain के बारे में थोड़ा बहुत जानकारी हो, ऐसा भी हो सकता है की आपको इसके बारे में मालूम ही न हो। तो कोई बात नहीं दोस्तों, आज इस पोस्ट में मैं आपको domain name के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाला हूं।

तो चलिए दोस्तों, अब बिना देरी किए जानते है की domain name क्या है, domain name के कितने प्रकार होते है, domain name कैसे काम करता है आदि बातों के बारे में।

डोमेन नेम क्या है – What is Domain Name in Hindi?

Domain Name वेबसाइट का Address होता है और इसी की सहायता से users आपके साइट तक पहुंचते है। Example के लिए आप हमारे ही website को देख लीजिए। हमारे वेबसाइट का नाम यानी डोमेन नेम manojkideas.com है।

डोमेन नेम क्या है - What is Domain Name in Hindi?

इसी तरह से कई domains होते है। आपने google में या किसी भी अन्य search engine में कुछ type किया और search results में आने वाले किसी एक पोस्ट पर click करते ही आप उसके website पर पहुंच जाते है।

इसके बाद यदि आपको उसमे बताए गए जानकारी अच्छी लगती है तो आप या तो उस पोस्ट को bookmark कर लेते हो या उसके site का नाम (Domain Name) याद कर लेते हो।

इसके बाद जब भी आपको उस जानकारी की ओर जरूरत होगी आप उस domain को google में सर्च करेंगे और direct उसकी site में पहुंच जायेंगें। आप चाहे तो गूगल में हमारे साइट का नाम भी सर्च कर सकते हैं। उसके बाद जो first result दिखेगा उसमे आपको क्लिक करना है।

उसके बाद आप हमारे साइट में पहुंच जाएंगे। इसी प्रकार से दोस्तों एक domain name काफी बड़ी भूमिका निभाता है blogging में। जानकारी के लिए बता दूं की कभी कभी आपको एक ही domain name के दो websites भी मिलेंगे।

लेकिन उनका extension name अलग अलग होंगे जैसे की हमारे साइट का नाम google.com और google.in यहां वेबसाइट का नाम एक जैसा ही है लेकिन उनका extension अलग अलग है।

आपको यह पोस्ट पसंद आ सकती है

Domain Name कैसे काम करता है?

आपके साइट का domain name जो भी होता है, वह आपके साइट के साथ पूरी तरह से connect होता है और आपके साइट का सारा डाटा एक server में store होता है। Domain उस server के “IP Address” के साथ जुड़ा हुआ होता है।

जब भी आप search बार में direct किसी भी domain को या अपने ही domain को type करते है तो आपके server का IP आपके डाटा को point करता है। जिससे उस domain के सभी फाइल्स यानी की वह साइट आपके सामने open हो जाता है। इस प्रकार से domain name काम करता है।

Domain Name के कितने प्रकार है?

आप जब भी किसी domain को देखते है आपको दो नाम दिखाई देता होगा, मेरा मतबल है की domain name दो शब्दों से मिलके बना होता है। उदाहरण के लिए एक बार फिर मेरे ही वेबसाइट को ले लेते है।

Manojkideas.com यहां दो शब्द है एक है manojkideas और दूसरा है .com अब तो आप समझ ही हुए होंगे की domain name क्या है? एक भाग जिसमे manojkideas है आप इसे अपने मन से बना सकते है लेकिन उसके बाद वाले शब्द को आप अपने मन से बना नहीं सकते आप सिर्फ चुन सकते है।

इसे domain name का एक्सटेंसन भी कहा जाता है। आप कब domain name या Hosting खरीदते है तो आपको अपने हिसाब से एक्सटेंशन चुनने का मौका दिया जाता है और domain name सिर्फ एक ही प्रकार के नहीं होते ये कई प्रकार के होते है जैसे की-

➡️ 1. Top Level Domains

Top Level Domain (TLD) ये ही वो domains extension है जिनका इस्तेमाल पूरे विश्व में सबसे अधिक किया जाता है। ये domain किसी एक country से संबंधित नहीं है। ये निम्नलिखित है-

.com – Comercial Site
.net – Network
.org – Organization Site
.edu – Education Site
.gov – Government Site
.info – Information

ये कुछ top level domain की लिस्ट है। इनके अलावा भी कई और domain extention मौजूद है लेकिन ये कुछ ज्यादा ही लोकप्रिय और पॉपुलर है।

➡️ 2. Country Code Top Level Domains

मैने आपको उपर कुछ domains बताए थे उनका इस्तेमाल कोई भी country के लोग कर सकते हैं। लेकिन अब बारी आती है country code top level domain की। ये domains country के हिसाब से होती है। इसे एक पूरे देश को ध्यान में रखकर चुना जाता है।

जैसे की आप अगर india में है और india के लिए ही उसके post वगैरह publish करते हो तो आप .in को चुन सकते है। इसी प्रकार से कुछ और domains extension है जैसे की-

.in – India
.uc – United States (Amerika)
.ch – Switzerland
.cn – China
.br – Brazil
.tu – Russia etc.

इसी तरह से दोस्तों सभी देश के country codes वाले domain होते है।

➡️ 3. Subdomain

आपको तो पता चल गया होगा की डोमेन क्या है और डोमेन के कुछ प्रकारों के बारे में भी आपने जान ही लिया है। पर उनमें ही एक प्रकार है, जिसका नाम है subdomain. यह आपके main domain का एक अंश यानी भाग होता है।

Subdomain को आप ख़रीद नहीं सकते। अगर आपने कोई भी top level domain या country code top level domain खरीद लिया है, तो आप उसे subdomain names में भाग सकते है।

जैसे की Manojkideas.com मेरा TLD name है और मैं इसे hindi.manojkideas.com और english.manojkidead.com आदि में divide कर सकता हूँ। आपको बस domain खरीदना है उसके बाद आप इसी तरह से कई subdomains बना सकते हैं।

मैने ऊपर अपने domain name के पहले hindi और english शब्द का इस्तेमाल किया है, जरूरी नहीं है की आप भी इन्ही शब्द का इस्तेमाल करे आप चाहे तो कोई और शब्द चुन सकते हैं। यह पूरी तरह से आपके ऊपर निर्भर है की आप कैसा subdomain बनाते है।

➡️ 4. Expired Domain

मुख्यत: expire domain को domain के प्रकारों की लिस्ट में नहीं रखा जाता लेकिन मैने रखा है क्योंकि बीते कुछ समय से ये काफी चलन में आया है। Expire domain से लोग कितना पैसा कमा रहे है आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते हैं।

Basically दोस्तों expire domain उसे कहा जाता है जो expire हो चुका होता है। यानी की आज अगर मैं किसी domain का इस्तेमाल कर रहा हूं और कुछ समय बाद उसका इस्तेमाल न करूं और उसे renue भी न कराऊं तो वह एक expire domain कहलाएगा।

आपको internet पर कई sites मिल जायेंगी जिनकी सहायता से आप आसानी से expire domains ले सकते हैं। अगर गूगल किसी domain को block या penalize कर देता है तो भी से इसे expire domain कहा जाता है।

आप इस तरह के domains भी खरीद सकते हैं, इसने कोई गलत बात नहीं है लेकिन आपको काफी सारी बातों का ध्यान रखना पड़ेगा। जैसे की उस domain का spam score कितना है, उसका domain authority कितना है आदि बातें।

इसके बाद अगर आपको कोई domain सही लगता है, तब आप उसे खरीद सकते हैं और अपना site बनाकर blogging कर सकते हैं।

Domain Name कैसे चुने?

आप यदि वेबसाइट बनाना चाहते हैं या ऑनलाइन बिजनेस करना चाहते हैं, तो आपको सोच समझ कर domain name का चयन करना होगा। क्योंकि यही आपको पहचान बनेगा, जिसकी सहायता से लोग आपके online busines को explore करेंगे।

आप domain name चुनते समय निम्न बातों को ध्यान में रख सकते हैं-

Domain name हमेशा ऐसा होना चाहिए जो छोटा हो और आसानी से याद हो जाए। ऐसे में जब भी कोई आपका domain name दिखेगा उसे तुरंत ही आपका domain name याद हो जायेगा।

डोमेन नाम हमेशा अपने Blogging Niche के हिसाब से ही चुनें। जैसे की आप news blog बना रहे हो तो News Blog से रिलेटेड domain चुने।

हमेशा एक top level domain ही खरीदें।
एक unique डोमेन नाम खरीदें जो किसी के भी जुबान पर आसानी से चढ़ जाये।

Domain Name कैसे और कहां से खरीदें?

दोस्तों अपने domain name क्या है, यह कैसे काम करता है और इसके कितने प्रकार है आदि बातों के बारे में तो जान ही लिया है। लेकिन अब आप इसे खरीदना चाह रहे होंगे। आप Domain Name खरीदने के लिए निम्नलिखित कंपनियों की सहायता ले सकते हैं।

DomainRacer
Hostinger
GoDaddy
Namecheap
Bigrock etc.

आप इनके official website में जा के बड़ी आसानी से अपने हिसाब से domain चुन सकते है। आपको सबसे केवल इसमें अपना अकाउंट बनाना होगा उसके बाद डोमेन चुनना है फिर पेमेंट करना है। बस इतना ही करना पड़ेगा फिर आपके पास भी एक domain name रहेगा।

Domain Name और URL में अंतर

काफी सारे लोग ऐसा समझते है की domain name और URL एक ही होता है परंतु ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। डोमेन नाम और URL ये दोनों अलग – अलग होते हैं। जहां domain name में सिर्फ आपके साइट का नाम को एक्सटेंशन होता है।

वहीं URL में कुछ अन्य चीजें भी जुड़ी हुई जीती है जैसे की हमारे साइट का URL है- https://manojkideas.com इस URL के माध्यम से कोई भी user वेबसाइट में किसी भी page या post को आसानी से ढूंढ सकते है और डोमेन नाम की सहायता से यूजर केवल उस वेबसाइट तक ही पहुँच सकते हैं।

आपको यह पोस्ट पसंद आ सकती है

Conclusion (Domain Name Kya Hai)

तो दोस्तों यह था Domain Name Kya Hai (डोमेन नाम क्या है) मैने आपको इस पोस्ट में domain name के बारे में सभी चीजें बताई है। लेकिन अभी भी अगर आपके मन में कुछ सवाल है तो आप हमसे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं।

आप domain name खरीद लोगे website बनाने के लिए लेकिन इसके बाद hosting की बारी आएगी। आपके पास बजट है तो आप hostinger से काफी कम कीमत में होस्टिंग खरीद सकते हैं लेकिन यदि आपके पास पैसे नहीं है तो आप केवल domain खरीद कर blogger.com पर अपना ब्लॉग बना सकते है।

यहां आपको होस्टिंग लेने की जरूरत नहीं है। जानकारी के लिए बता दूं की blogger.com भी गूगल का ही प्रोडक्ट है। चलिए दोस्तों अब अलविदा कहना का टाइम आ चुका है। आखिर में आपसे बस यही कहूंगा की इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों और सभी सोसल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी share करें।

ताकि अन्य लोगों को भी मालूम पढ़ सके की domain name क्या होता है?

FAQs –

Q. Domain Name क्यों जरूरी है?

Ans – यादि आप ऑनलाइन वेबसाइट या ब्लॉग बनाके पैसा कमाना चाहते हैं तो इसके लिए domain name बहुत ही जरूरी है। ऑनलाइन बिजनेस को फैलाने के लिए भी domain की काफी जरूरत पड़ती है।

Q. क्या बिना डोमेन नाम खरीदे ब्लॉग, वेबसाइट नही बना सकते है?

Ans – बना सकते है लेकिन सब डोमेन के साथ, जैसे ब्लॉगर पर आप फ्री ब्लॉग बनाते है जहाँ आपको Blogger.com का फ्री सब डोमेन मिलता है।

Hello दोस्तों, मेरा नाम मनोज कुमार है और आपका हमारे ब्लॉग manojkideas.com पर स्वागत है मुझे Blogging में दो सालो का अनुभव, इंटरनेट की अच्छी जानकारी है इस ब्लॉग पर हमने Make Money, Blogging और Technology की सबसे ज्यादा जानकारी शेयर करते है जोकि यह मेरे प्रयोग किये गये तरीके होते है जो मैं सीखता हूँ वही 100% रियल सिखाता हूँ।

Leave a Comment