कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे 2023 (Call Setting Kaise Kare)

Call Setting Kaise Kare in Hindi? अगर आप एक मोबाइल फोन User है तो आप Call Setting के बारे में जानते होंगे आखिर ये कॉल सेटिंग क्या है और कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे, कॉल सेटिंग के कितने ऑप्शन है और उन ऑप्शन का Use क्या है इन सभी की जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलेगी।

दुनिया का कोई भी Mobile Phone हो उसमें आपको Call Setting का ऑप्शन जरूर मिलता है जहाँ से आप अपने आने – जाने वाली किसी Call की Setting कर सकते है अपने उपयोग अनुसार जैसा आप चाहते हो।

उदाहरण के मान लिजिए आपके मोबाइल नंबर पर कोई Call आ रही है लेकिन आप नही चाहते कि वह Call आपके पास आये तो आप Call Setting के जरिये कई तरह से उस Call को रोक सकते है या उस काल को कही और भी भेज सकते है।

यह Call Setting का एक छोटा सा उदाहरण है क्योकि ऐसी हजारो सेटिंग आपके Call Setting के अंदर जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते है और इसका उपयोग करते है जो आपके लिए काफी उपयोगी होती है।

Call Setting kaise Kare in Hindi | कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे?

यह Call Setting कितनी उपयोगी है यह उपयोग करने वाले लोग जानते है लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि आपको Call Setting कोई जानकारी नही है और जाने – अनजाने आपके मोबाइल में ऐसी कुछ सेटिंग हो जाती है।

जब आपको Call करने या Call प्राप्त करने में कुछ समस्या आ जाती है और आपको तो ठीक करना आता नही ऐसे में आप किसी दुकान पर जाते है तो आपको पैसे देने होते है लेकिन अगर आपको यह पता हो खुद ठीक कर सकते है।

इसीलिए आज की पोस्ट कॉल सेटिंग कैसे करे के बारे में है जहाँ मैं आपको Call Setting क्या है और Call Setting कैसे ठीक करे की पूरी जानकारी देने वाला हूँ जिससे आप अपने मोबाइल की कोई भी काल सेटिंग कर सकते है।

कॉल सेटिंग क्या है (What is Call Setting in Hindi)

Call Setting का सिम्पल सा मतलब है कि जो कुछ भी आप कॉल से संबंधित सेटिंग करते है वह Call Setting कहलाती है जो कॉल करने की एक तरह की सुविधा होती है जो आप Call करते समय उसका उपयोग करते है।

Call Setting करने की अनेक तरह की सेटिंग होती है जिसमे Sim Card & Mobile Network Setting, Call Forwarding Setting, Call Waiting Setting, Call Barring Setting आदि जिसे आपको ठीक करना होता है।

लेकिन इसके अलावा भी और भी कुछ Call Setting है जो आज के Android Mobile में मिलती है जैसे की Call Recording Setting, Outo Answer Setting और कुछ Adwanced Setting भी होती है।

जो आप अपने Call करने की जरूरत अनुसार इन Call Setting का उपयोग करते है यही Call Setting होती है या यही Call Setting का मतलब है तो यहाँ तक आप Call Setting क्या है यह समझ चुके हैं आइए अब इन Call Setting Kaise Kare? के तरीके जानते है।

Android Mobile की Call Setting कैसे ठीक करे

आज के समय में सबसे ज्यादा Android Mobile ही लोग उपयोग कर रहे है तो हम यहाँ Android Mobile का ही Call Setting करना जानेंगे जिसमें Call Setting की सबसे ज्यादा ऑप्शन भी होता है।

इसके लिए आपको सबसे पहले अपने Android Mobile फोन के सेटिंग में जाना है और वहाँ Call Setting लिखकर सर्च करना है जहाँ आपको Call Setting ऑप्शन मिल जायेगा जिसपर आप कि्ेलक करेंगे तो आपको कुछ इस तरह का ऑप्शन मिलेगा।

Call Setting Meaning in Hindi | कॉल सेटिंग क्या है कैसे ठीक करे?

लेकिन अगर आपके पास कोई सिम्पल या कीपैड मोबाइल है तो आपको उसमें कुछ Call Setting का ऑप्शन मिलता है लेकिन थोड़ा कम मिलता है उसको भी आप इसी तरीके से कर सकते है तो आइए जानते है यहाँ कितनी Call Setting है और उसको कैसे ठीक किया जाता है।

1. Sim Cards & Mobile Networks Settings

यह सेटिंग सिम कार्ड और मोबाइल में नेटवर्क की सेटिंग के लिए दिया गया है जहाँ आप इस ऑप्शन का उपयोग करके अपने सिम की सेटिंग करने के साथ उसके नेटवर्क की भी सेटिंग कर सकते है।

इसके लिए आपको अपने Android Mobile की सेटिंग में जाकर Sim Card & Mobile Network के ऑप्शन पर कि्लक करना होगा जिसके बाद यहाँ आपको कई तरह की सेटिंग दिखाई देगी जैसा चित्र में दिखाया गया है।

Call Setting Meaning in Hindi | कॉल सेटिंग क्या है कैसे ठीक करे?

यहाँ ऊपर मे आपको सबसे पहले सिम कार्ड दिखाई देता है जिसमे अगर आपके मोबाइल में 1 एक सिम कार्ड लगा है तो एक ही दिखाई देगा और 2 सिम कार्ड लगा है तो दोनो सिम कार्ड यहाँ दिखाई देगा जहाँ आप किसी सिम पर कि्लक करके उसकी सेटिंग ठीक कर सकते है।

1. किसी सिम कार्ड पर कि्लक करे

अब आपको जिस भी सिम कार्ड की सेटिंग करना उस कार्ड पर कि्लक करे जिसके बाद और बहुत से ऑप्शन दिखाई देगा जो इस प्रकार है।

1. Turn On – यह सेटिंग सिम कार्ड को बंद या चालू करने के लिए होती है इससे आप जब चाहे किसी सिम कार्ड को On या Off कर सकते है।

2. Edit Sim Card Name – यहाँ से आप अपने सिम कार्ड का नाम चेंज कर सकते है।

3. Edit Sim Card Number – यहाँ आप अपने सिम कार्ड का नंबर Edit या Add कर सकते है।

4. Access Point Names – यहाँ से आप APNs को सलेक्ट कर सकते अपनी जरूत अनुसार।

5. Preferred Network Type – यहाँ से आप अपने नेटवर्क का Type चुन सकते है जैसे 2g, 3g, 4g LTE आदि।

6. Mobile Network – यहाँ से आप अपना नेटवर्क सर्च कर सकतै है और यहाँ भी आप 2g, 3g, 4g LTE को मैनुअल सेट कर सकते हे या फिर आप आटोमेटिक नेटवर्क सेटिंग को On कर सकते है।

7. Use VoLTE – इस सेटिंग से आप अपने मोबाइल की VoLTE सेटिंग को On/Off करके 4g में हाई क्वालिटी आवाज के साथ बात करते है।

8. Make Calls Using Wi-Fi – इस सेटिंग को On करके आप Wi-Fi जरिये भी काल पर बात कर सकते है।

2. Default For Calls

इस सेटिंग का सिर्फ इतना ही Use है कि यहाँ से आप काल करने के लिए सिम कार्ड को सलेक्ट कर सकते है जिसके लिए तीन ऑप्शन दिये गये है।

  1. सिम 1 को सेलेक्ट कर सकते है तब सिर्फ सिम 1 से काल होगी।
  2. सिम 2 को सेलेक्ट कर सकते है तब सिर्फ सिम 2 से काल होगी।
  3. या फिर आप डिफाल्ट को सलेक्ट कर सकते है तब दोनों सिम से काल कर सकते है इसके लिए काल करते समय हर बार सिम सेलेक्ट करना होगा।

3. Data Card

यह वह सेटिंग है जहाँ आप इंटरनेट चलाने के लिए सिम सेलेक्ट करते है जहाँ सिर्फ दो ही ऑप्शन है सिम 1 या सिम 2 कोई एक सलेक्ट कर सकते है।

4. Mobile Data

यहाँ से आप अपने Mobile Data को On/Off करते है अर्थात अपना इंटरनेट बंद/चालू करते है।

5. Daul 4G

यहाँ सेटिंग दोनों सिम कार्ड मे 4G On रखने के लिए है इसे बंद करने से आपका केवल एक सिम कार्ड 1 ही 4G पकड़ता है लेकिन इसे चालू करने से दोनो 4G पकड़ता है।

6. Use Mobile Data During VoLTE Calls On The Secondary SIM

इस सेटिंग के जरिए आप इंटरनेट चलाने के साथ किसी सिम पर काल कर सकते है और बात भी कर सकते है ये बंद रहेगा तो काल के दौरान आप इंटरनेट उपयोग नहीं कर सकते है।

7. Data Roaming

यह सेटिंग तब उपयोग किया जाता है जब आप रोमिंग में होते है तब आपको इस सेटिंग को On करना होगा वरना आप इंटरनेट उपयोग नही कर पायेंगे।

8. Always Receive MMS

इस सेटिंग को चालू करके आप बिना इंटरनेट चालू किये किसी का MMS प्राप्त कर सकते है।

9. Remember Sim Preference

यह आपको Call History बताता है जैसे कि आपके मोबाइल पर पिछली जो भी काल की गयी है या रिसीव की गयी है वह किस सिम कार्ड पर आई थी ताकि आप दुबारा उसी सिम कार्ड से काल कर सके।

10. Advanced Settings

यह काल सेटिंग की कुछ एडवांस सेटिंग है जिसमें कुछ खास सेटिंग नही है जो है कुछ इस प्रकार है।

1. Mobile Network Diagnostics – यहाँ से आप अपना नेटवर्क टेस्ट कर सकते है इंटरनेट की स्पीड टेस्ट कर सकते है यह सिर्फ इसी लिए है।

2. Mobile Network Properties – यहाँ सिर्फ दो ऑप्शन है पहला IP Address और दूसरा DNS Sever Address जिसको आप सिर्फ देख सकते है यहाँ से कुछ कर नही सकते है।

यहाँ तक Call Setting के एक ऑप्शन Sim Cards & Mobile Network की सेटिंग पूरी होती है आइए अब दूसरे ऑप्शन के बारे में जानते है।

2. Call Recording

इस ऑप्शन में ज्यादा कुछ सेटिंग नही है यह बस काल को रिकार्ड करने की सेटिंग है जिसमें सिर्फ चार ऑप्शन है जो इस प्रकार है।

1. Call Recording Notification

काल रिकार्ड होने की सुचना पाना है तो इस सेटिंग को आप On करते है नही पाना है तो Off कर सकते है।

2. Record Call Automatically

इस सेटिंग को On करने से आपकी सभी काल रिकार्ड होगी वो भी आटोमेटिक रूप से इसे आप जैसा चाहे On/Off कर सकते है।

3. Record Calls Form

यहाँ आपको दो ऑप्शन मिलते है।

1. All Number – इसे सेलेक्ट करने से आपके सभी नंबर की काल रिकार्ड होगी।

2. Selected Number – यहाँ से आप उन नंबर को सेलेक्ट कर सकते है जिन नंबर की आप काल रिकार्ड करना चाहते है।

3. Call Forwarding Settings

Call Forwarding Settings को करने से पहले आपको Call Forwarding क्या है इसका मतलब जानना चाहिए क्योकि इससे आपको दिक्कत भी हो सकती है।

Call Forwarding का आसान सा मतलब है कि अपनी Incoming Call को किसी दुसरे नंबर पर भेजना (ट्रांसफर करना) Call Forward को हम Call Divert के नाम से भी जानते है।

अगर आपको अपने नंबर पर आने वाली काल को दूसरे नंबर पर भेजना है तो आप इस सेटिंग का उपयोग कर सकते है।

कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि हमारे पास एक ही मोबाइल फोन होता है और सिम कार्ड 2 ज्यादा 3,4 होता है तो आप दो सिम कार्ड फोन में लगा सकते है और बाकी के सिम कार्ड को आप उसी नंबर पर Call Forward कर सकते है।

इससे होगा यह कि वह सिम कार्ड फोन से बाहर रहेगा और उस नंबर पर कोई काल करेगा तो वह काल Forward होकर दुसरे नंबर पर आ जायेगी जो सिम कार्ड मोबाइल में चालू है और इससे आप बात भी कर सकते है।

इसको आप आसान भाषा मै इस तरह समझ लिजिए कि आपके पास दो सिम कार्ड है A और B जिसमे आपका A सिम कार्ड मोबाइल में चालू है और B मोबाइल से बाहर है तो B सिम कार्ड को आप A पर Call Forward कर सकते है अब B की काल A पर जायेगी।

लेकिन इसकी कई कंडीशन है क्योकि Call Forwarding में चार तरह की सेटिंग है और इसे करने के भी कई तरीके है जिसके लिए आपको यह पोस्ट Call Forwarding Meaning in Hindi । Call Forwarding क्या है कैसे करें? पढ़ना होगा तभी आप इसके बारे मे बेहतर समझ पायेंगे और इसे कर पायेंगे।

4. Call Waiting

Call Waiting को करने से पहले ये जानते है कि Call Waiting होती क्या है और यह क्यो की जाती है क्योकि यह जानने से पहले इस सेटिंग को करने का कोई मतलब ही नही है।

जब आप किसी से काल पर कर रहे होते है ठीक उसी समय आपके उसी नंबर दूसरी काल भी आती है यह दूसरी काल Call Waiting सेटिंग के कारण आती है।

अगर आपके सिम कार्ड में Call Waiting का सेटिंग On नही है तब यह दूसरी काल नही आयेगी और आपके नंबर पर काल करने वाले व्यक्ति को आपका नंबर Busy बतायेगा।

लेकिन अगर Call Waiting सेटिंग On है तो किसी से बात करते समय बिना रूकावट के दूसरी काल भी आयेगी और आप उस व्यक्ति से बात कर पायेंगे या फि दोनों काल को कानफ्रेंस करके दोनो से बात कर सकते है।

जिसके लिए कोई विषेश सेटिंग नही है बस आपको Call Waiting पर कि्लक करना फिर सिम सेलेक्ट करना है फिर Call Waiting सेटिंग को On/Off करने का ऑप्शन दिखाई देगा जहाँ से आप Call Waiting को On/Off कर सकते है।

वैसे इस Call Waiting सेटिंग को On/Off करने का एक USSD Code भी होता है तो इसकी ज्यादा जानकारी के लिए आप यह पोस्ट Call Waiting Meaning in Hindi । काल वेटिंग क्या है कैसे सेट करे? पढ़े Call Waiting की सारी जानकारी दी गयी है।

5. Incoming Call Settings

Incoming Call Settings में कोई विषेश ऑप्शन नही जो कुछ भी छोटे – मोटे ऑप्शन है वो इस प्रकार है।

1. Increasing Ringtone Volume

यहाँ से आप अपने Ringtone की Volume बड़ा सकते है।

2. Flash When Ringing

इस ऑप्शन को आन करने से Incoming Call आने पर आपकी Flash लाइट भी जलेगी।

3. Proximity Sensor

यह सेटिंग को आन करने से जब आप Call Recive करके जैसे कान के पास ले जायेगे बात करने के लिए तो आटोमेटिक रूप से स्कीन की लाइट बंद हो जायेगी अगर यह आन नही है तो लाइट आटोमेटिक बंद नही होती है तब आपको करना पड़ता है।

4. Mute First Ring

इस सेटिंग को आन करने से आपके नंबर किसी अनजान नंबर की काल की पहली रिंग नही बजेगी दूसरी बार करेगा तब बजेगी।

6. Blocklist

Blocklist का सिम्पल सा मतलब है किसी नंबर को ब्लॉक करना कि उस नंबर की काल आपके नंबर पर ना आये तो आप जिस नंबर की काल अपने नंबर पर नही आने देना चाहते है आप उस नंबर को Blocklist में डाल सकते है फिर कोई भी व्यक्ति उस नंबर से आपके नंबर पर काल नही कर पायेगा।

इसके लिए आपको यहाँ दो ऑप्शन मिलता है जिसमें SMS Blocklist – जहा से किसी नंबर के मैसेज को बंद कर सकते है और Call Blocklist – जहा से किसी नंबर के काल को बंद कर सकते है बस आपको इस आप्शन में जाकर वह नंबर ऐड कर देना होता है।

7. Location

जब आप किसी जगह का Location अपने मोबाइल में जानना चाहते है तब आपको इस ऑप्शन को चालू करना होता है जिसके लिए कुछ ऑप्शन इस प्रकार दिये गये है।

1. Show Location

सबसे पहले इसे On करना है यह Off रहेगा तो नीचे का ऑप्शन भी हाईलाइट नही होगा।

2. Dialing Assistant

यहाँ पर दो ऑप्शन है पहला – Default Country Code जहाँ आप अपने देश का Country Code ऐड कर सकते है जैसे भारत का +91 होता है जो डिफाल्ट सेट भी होता है।

दूसरा है Add Country Code – इस सेटिंग को आन करना इससे आप जब भी कोई नंबर बिना Country Code के डायल करेंगे तो उसमें आटोमेटिक रूप Country Code Add कर देगा जो आपने ऊपर ऐड किया है।

8. Auto Answer

इस सेटिंग के जरिये आप अपने मोबाइल पर आने वाली काल को Auto Answer कर सकते है मतलब बिना कुछ किये काल रिसीव कर ली जायेगी जिसके लिए कुछ सेटिंग भी दी गयी है।

1. Auto Answer

सबसे पहले इसे आन करना है तभी नीचे के और बिकल्प दिखाई देगा।

2. Delay Auto Answer

यहाँ से आप एक समय सेट कर सकते हे कि कितने समय में Call Auto Answer होगी जिसके लिए No delay, 3 Seconds, 5 Seconds और 10 Seconds का विकल्प दिया गया है जिसमें कोई एक चुन सकते है।

3. Auto Answer Settings

यहाँ पर चार विकल्प है Always, Handset Only, Bluetooth Only और Handset Or Bluetooth Only जो आप अपनी जरूरत के हिसाब से चुन सकते है।

9. Advanced Settings

इस Advanced Settings में बहुत से ऑप्शन है जिसमे कुछ विषेश ऑप्शन भी है तो हम सभी को विस्तार से एक – एक करके जानते है।

1. Dail Pad Touch Tone

यहाँ से Dail Pad के Touch Tone की सेटिंग कर सकते है जिसके लिए यह दो ऑप्शन है

Dail Pad Tone – यहाँ पर On/Off का ऑप्शन है जहाँ से टोन को चालू और बंद कर सकते है।

Tones – यहाँ से आप जो चाहे वह टोन सेट कर सकते है।

2. Quick Dail

जब आप इस ऑप्शन पर कि्लक करेंगे आपको यहाँ 1 से 9 तक के अंक दिखाई देगा यहाँ सभी नंबर पर आप कि्ेलक करके अलग – अलग मोबाइल नंबर सेट कर सकते है।

और जब आप Dail Pad में जाकर 1 से 9 तक कोई अंक को दबाखर करके रखेंगे तो उस अंक पर जो नंबर आपने सेट किया होगा उसपर काल होने लगेगी यह फास्ट काल करने का अच्छा तरीका है।

3. Redail Automatically

इस ऑप्शन को On करने से Automatically Redail काल होती है लेकिन यह तभी होगा जब लाइन व्यस्त होगी तो इस सेटिंग को On करके आटो रिडायल कर सकते है।

4. Missed Call Reminder

यहाँ पर Missed Call की जानकारी के लिए Reminder सेट कर सकते है जहाँ एक टाइम दे सकते है कि आपको कितनी बार Reminder मिलना चाहिए यह आपको याद करता रहेगा कि आपकी कोई काल मिस हुई है।

5. Vibrate When Your Call is Answered

इस सेटिंग को आन करने से आपकी मोबाइल Vibrate करेगी जब आप किसी को काल करेंगे और वह व्यक्ति आपकी काल को रिसीव करेगा यहाँ छोटा सा Vibration होगा।

6. Call Waiting Notification

इस सेटिंग से सिर्फ Call Waiting की सुचना मिलती है यहाँ दो तरह की बस सेटिंग है जहाँ आप Vibration या Ring Tones की सेटिंग करके इसकी सुचना पा सकते है।

7. Quick Responses

यहाँ पर आपके फोन पर आने वाली काल को तुरंत Response देने का ऑप्शन है जहाँ आप अगर आप किसी कारण वश काल रिसीव नही कर पा रहे तो Response देकर काल करने वाले को सुचित कर सकते है कि आप अभी कही पर व्यस्त है।

इसके लि आपके पास चार ऑप्शन है जिसमें से आप कुछ भी सेट कर सकते है वो ऑप्शन ये हैं।

  • Can’t talk now. Call me later?
  • I’ll call you right back.
  • I’ll call you later.
  • Can’t talk now. What’s up?

8. Call Barring

Call Barring काल सेटिंग की एक बहुत ही महत्वपूर्ण सेटिंग है जहाँ से आप अपने आउटगोइंग को पूरी तरह मैनेज कर सकते है कि आपको कहाँ पर काल करना है और कहाँ पर काल नही करना है।

आप यहाँ पर जो कुछ भी सेटिंग करेंगे उसी जगह आप काल कर सकते है और बाकी जगह की काल को आप रोक सकते है इसके बारे में मैं आपको ज्यादा नही बताउंगा क्योकि इसके लिए मैने एक अलग से पोस्ट लिखा है।

तो आप उसको पढ़ लीजिए आपको इसमें Call Barring क्या है और इसकी सारी सेटिंग की जानकारी मिल जायेगा तो इसके लिए यह पोस्ट पढ़े Call Barring Meaning in Hindi । Call Barring क्या है कैसे Use करे?

आपको यह पोस्ट पसंद आ सकती है

निष्कर्ष – Call Setting क्या है और कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे

यह थी जानकारी Call Setting Kaise Kare in Hindi के बारे मैं जहाँ आपने जाना कॉल सेटिंग क्या है और कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे जहाँ हमने Android Mobile की परी सेटिंग के बारे में विस्तार से बताया जिसकी मदद से आप Android Mobile और कीपैड मोबाइल की भी काल सेटिंग आसानी से कर सकते है।

आशा करता हूँ ये जानकारी Call Setting Meaning in Hindi | कॉल सेटिंग क्या है कैसे ठीक करे आपके लिए हेल्प फूल रही होगी ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे सोशल मिडिया पर अपने दोस्तो और रिश्तेदारो के साथ शेयर कर और कोई समस्या या सुझाव हो तो कमेंट करें आपकी समस्या का हल जरूर मिलेगा।

FAQs – 

Q. मोबाइल में कॉल सेटिंग्स कहां स्थित है?

Ans – किसी भी Android Mobile में कॉल सेटिंग या तो सेटिंग में होती है या फिर डॉयलर पैड की सेटिंग में होती है।

Q. एंड्रॉइड मोबाइल फोन में कॉल सेटिंग कैसे करें?

Ans – इसके लिए आपको यह पोस्ट बस पूरा पढ़ना है इसमें हमने Call Barring, Call Forwarding, Call Waiting, Network Setting, Sim Setting सभी के बारे में विस्तार से बताया है।

Hello दोस्तों, मेरा नाम मनोज कुमार है और आपका हमारे ब्लॉग manojkideas.com पर स्वागत है मुझे Blogging में दो सालो का अनुभव, इंटरनेट की अच्छी जानकारी है इस ब्लॉग पर हमने Make Money, Blogging और Technology की सबसे ज्यादा जानकारी शेयर करते है जोकि यह मेरे प्रयोग किये गये तरीके होते है जो मैं सीखता हूँ वही 100% रियल सिखाता हूँ।

2 thoughts on “कॉल सेटिंग कैसे ठीक करे 2023 (Call Setting Kaise Kare)”

Leave a Comment